Uncategorized

महागणपति साधना प्रकल्प

धुमावती दीक्षा प्रकल्प भाग-2 जै माई की मित्रों, पूर्व लेख (धुमावती दीक्षा प्रकल्प ) में भगवती के दीक्षा के महात्म्य के रूप में श्रीविद्या रूपी अत्यन्ततम शुद्धतम मार्ग का आंशिक वर्णन किया गया । आज इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए श्रीविद्या के क्रम दीक्षा के अंतर्गत कुछ महत्वपूर्ण विषयों पर प्रकाश डालेंगें। द्वादश सम्प्रदायों …

महागणपति साधना प्रकल्प Read More »

धूमावती साधना प्रकल्प

धूमावती दीक्षा प्रकल्प जै माई की , प्रायः कई तरह की जिज्ञासर्थुओं के द्वारा यह प्रश्न किया जाता है की भगवती धूमावती की साधना कैसे करें तथा इनकी दीक्षा कैसे प्राप्त हो ?… भगवती धूमावती की सिद्धिलाभ जल्दी से जल्दी कैसे करें?… क्या भगवती की प्रत्यकक्षानुभूति की जा सकती है ?…. भगवती की दीक्षा किस …

धूमावती साधना प्रकल्प Read More »

कुलदेवी का निषेध “गृहदोष” का मूल कारण

कुलदेवी का महत्व जै माई की आज मैं आपको बतलाऊंगा की आगम की दीक्षा जब आप लेते है । तो सबसे पहले हमारे घर के जो कुल देवता है, जैसे कि हमारी कुलदेवी कौन है , कहाँ है , किस परिस्थिति में है । इन सब विषयों का ज्ञान होना अत्यंत आवश्यक है । कभी …

कुलदेवी का निषेध “गृहदोष” का मूल कारण Read More »

पंचाग्नि धूमावती साधना

‘धूमावती धूम्रवर्णा धूम्रपान परायणा ।  धूम्राक्षमथिनी धन्या धन्यस्थान वासिनी ।। ”                   धूम्रवर्णा धूम्रपान परायणा :- योगाग्निरूपी  धूम्रपान, योग एवं तंत्र की इतनी उच्च एवं गहन साधना जिसमे योगी एवं साधक हठयोग की क्रिया के द्वारा पंचगनी में सूक्ष्मरूप से समाहित आपस में एक-दूसरे में विलेययुक्त तत्वों का …

पंचाग्नि धूमावती साधना Read More »

धूमावती के अघोर नाम का रहस्य ! (Part-2)

अघोराचारसंतुष्टा अघोराचारमण्डिता ।  अघोरमंत्र संप्रीता अघोरमंत्रपूजिता।। अघोर   (Aghore)- भगवान् शिव का एक रूप।                        तंत्रशास्त्र के अनुसार भगवान् शिव के पंचमुखो में से दक्षिण दिशा की और दर्शित एक मुख जिसका नाम ‘अघोर’ ! दक्षिण दिशा की और प्रकट हुआ यह मुख भगवान  शिव द्वारा …

धूमावती के अघोर नाम का रहस्य ! (Part-2) Read More »

प्राचीन भारत का तांत्रिक रहस्य

भारतीय समाज का तांत्रिक स्वरुप योग , तंत्र और ज्योतिष इन तीनों शास्त्रों का स्थान विश्व साहित्य और भारतीय संस्कृत में सर्वोपरि रहा है। वास्तव में सम्पूर्ण भारत में जितने भी मठ ,मंदिर और पवित्र सिद्धःस्थल है इन सभी में व्याप्त पूजा-पाठ , धर्म ,संस्कृति और साधना का मूल स्त्रोत पूर्व में भारतीय तांत्रिक वाङ्ग्मय …

प्राचीन भारत का तांत्रिक रहस्य Read More »

Aghor का रहस्य

Dhumavati के अघोर नाम का रह्स्य [Dhumavati Name Series Part-2 ] अघोराचार संतुष्टा अघोराचार मण्डिता। अघोरमंत्र संप्रीता अघोरमंत्र पूजिता।।  जै माई की                                            ♦यदि ऊपर वर्णित देवी के नामों  की व्याख्या की जाए तो उनमें  मूल …

Aghor का रहस्य Read More »

धूमावती के अश्रापित नामों के गूंढ़य रहस्य [ part-1 ]

जै माईकी                                                    मित्रों , दशमहाविद्याओं  में से एक  श्रीभगवती  माता धूमावती के  के बारें में भांति -भांति  की  भ्रांतियाँ  इस सम्पूर्ण जगत में फैली हुई हैं , विषय कि  सही जानकारी …

धूमावती के अश्रापित नामों के गूंढ़य रहस्य [ part-1 ] Read More »

कुम्भ राशि का तांत्रिक एवं आध्यात्मिक महत्व

कुंभ राशि का परिचय यह राशि चक्र की ग्यारहवीं राशि है। कुम्भ राशि , सिंह राशि के ठीक विपरीत है। इसलिए इसका रंग काला है, और यहाँ सदैव अन्धकार व्याप्त रहता है। यह उस जीवन का प्रतीक है जो संघर्षों एवं दुःखो से भरा रहता है। इसी राशि क्षेत्र में परम सूर्य का अस्त होता …

कुम्भ राशि का तांत्रिक एवं आध्यात्मिक महत्व Read More »

Tantrik-Vaimansyta

तांत्रिक वैमनस्यता आज-कल तंन्त्र साधक किसकी साधना कर रहे हैं किसी को कुछ ज्ञात नहीं बस चमत्कार दिखा कर  दैविक शक्ति का नाम बताकर गुमराह कर रहे हैं , लोग तंत्र के नाम पर तामसिक शक्तिओ की साधना करना चाहते हैं प्रायः कुछ  लोग तन्त्र की चर्चा करते हैं लेकिन सही दिशा एवं मार्ग दर्शन  …

Tantrik-Vaimansyta Read More »